January 28, 2015

आजकल आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की जनता को फिर से गुमराह करना शुरू कर दिया है। उनका इलेक्शन मूवमेन्ट इस बार भी वही है। झूठ का प्रचार किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर झूठ ही परोसा जा रहा है।

फ्रीडम का अनवाॅन्टेड यूज कुछ इस तरह से करते हैं कि इलेक्शन कमिशन को अपना चाबुक चलाना ही पडता है।

वे अब अवसरवादी राग अलाप रहे है। अगर देश के विकास के लिए कोई साथ चले तो उसे अवसरवादी कह रहे हैं। भारत को समृद्ध, शक्तिशाली और विकसित देश बनाने की विचारधारा अपनाने वाले सभी लोग एक जगह मिलकर काम करेंगे, इसे अवसरवादिता नहीं कहा जाना चाहिए। यह तो देश के लिए कुछ करने का सुअवसर है। यह जज्बा है देश सेवा करने का।

भारतीय जनता पार्टी की मुख्यमंत्री उम्मीदवार श्रीमती किरण बेदी जी को हम सब भली भांति जानते हैं। महिलाओं के लिए वे एक आईकन है। जब किसी लडकी को लाईफ में बडा अचीवमेंट मिलता था तो यही मिसाल दी जाती थी कि किरन बेदी है ये।  किरन बेदी बनेगी।।  और यही उनके लिए सबसे बडा उपहार हो जाता था। आजकल इन लाइन्स को सूथिंग वर्ड्स में बोला जाता है।

और अब यही महिला दिल्ली की हिफाजत करेगी।

Back to Top